Kanton ke Raahi (Hindi)

परमेश्वर नहीं चाहता, कि उस के उत्तम सृष्टि जो मनुष्य है, वे दुःख उठाएं और रोते पीटते रहे। प्रभु यही चाहता है, कि मनुषय सदा आनन्दित और प्रसन्नित रहे। समस्या एक से बढ़कर आ जाने पर, मनुषय ऐसे सवालों को पूछते है, कि यह जीवन क्यों? क्या इसे समाप्त करना उचित नहीं ? समस्या जीवन में बढ़ने से कुड़कुड़ाते है, और परमेश्वर की उपस्थिति से भाग जाते है इस का समाधान इस ग्रंथ में वर्णन किया गया है ।

Author:Pastor K Joy

Pastor K Joy, is the Senior pastor and President of India Pentecostal Church of God, Delhi Region. He is a frequent speaker at various domestic and international conferences and conventions. He has published 37 books.

Binding: paperback

Publisher : Revive India Publications
Released: 2013
ISBN: 978-81-926974-0-6

Matam -Jašn Ki Waadi (Hindi)

मनुषय के जीवन आनंद एवं दुःख दोनों के मिली – जुली अनुभव है। आनंद के अवसर से बढ़कर दुःख के अवसर को मनुषय पार करना पड़ता है। वह इसलिए है, कि मनुषय कष्ट ही भोगने के लिए उत्पन्न हुआ है और दुःख से भरा रहता है (अय्यूब 5:6,7; 14:1)। इस ग्रन्थ के आरंभ में ऐसा एक व्यक्ति को देख सकते है, जो दुःख के सागर में डूब पड़ा है, परंतु आनंद की समृद्धि में यह ग्रन्थ समाप्तः होता है। इस प्रकार एक शुभ समाप्ति इस भक्त को मिला, जो इसे देकते और इस ग्रन्थ को पढ़ते है, उन सभी के लिए परमेश्वर की शांति, जो समझ से बिलकुल परे है, मिल जाती है। इस का वर्णन इस पुस्तक में किया जाया है।

Author:Pastor K Joy

Pastor K Joy, is the Senior pastor and President of India Pentecostal Church of God, Delhi Region. He is a frequent speaker at various domestic and international conferences and conventions. He has published 37 books.

Binding: paperback

Publisher : Revive India Publications

Released: 2013
ISBN: 978-81-926974-1-3

तेजोमय सेवकाई (Hindi)

बहुत से सेवक है जिन्हे, पवित्राशास्त्रा का ज्ञान है एवं आत्मा के प्रति बोझ है, परन्तु व्यवहारिक सेवकाई में परिणाम देने में असमर्थ हैं। क्योंकि उन्होने प्रशिक्षण प्राप्त नही किया। ऐसे सेवकों के लिए यह पुस्तक बहुत ही लाभदायक हैं। यह पुस्तक आप की सेवा को तेजोमय बनाने के लिए एक मार्गदर्शिका है, यदि आप इसमें वर्णित सिधान्तो को अपनी सेवा में शामिल कर लें।
यह पुस्तक आप के बहुत सारे प्रशन और चुनौतियों को निडर सामना करने के लिए उपयोगी हैं

Author:Pastor K Joy

Pastor K Joy, is the Senior pastor and President of India Pentecostal Church of God, Delhi Region. He is a frequent speaker at various domestic and international conferences and conventions. He has published 37 books.

Binding: paperback

Publisher : Revive India Publications

Released: 2013
ISBN: 978-81-926974-2-0

पवित्रा बाईबल की शिक्षाऐं (Hindi)

किसी भी कलीसिया या समूह की स्थिरता के साथ बने रहने के लिये उस के पास स्पष्ट बुनियादी नियम होना चाहिए। नियमों की गंभीरता स्पष्ट रूप में समझने के बाद ही वह ठीक तरीके से पालन कर पायेंगें। नये नियम की कलीसिया की बुनियादी शिक्षा इस पुस्तक का प्रतिपादित विषय है।

Author:Pastor K Joy

Pastor K Joy, is the Senior pastor and President of India Pentecostal Church of God, Delhi Region. He is a frequent speaker at various domestic and international conferences and conventions. He has published 37 books.

Binding: paperback

Publisher : Revive India Publications

Released: 2016
ISBN: 978-81-926974-3-7

Your body’s physical maturity typically peaks in early adulthood, but your spiritual maturity will keep … Read More

“How important can a logo be? After all, it’s just a small symbol for my … Read More

Did you know that your church’s branding has the power to either attract or repel … Read More

. . . to know the love of Christ, which passeth knowledge, that ye might … Read More

My first experience in preaching was with a translator when I was just 18 years … Read More

Did you know that 80% of churches have less than 200 members in attendance in … Read More

Type easily in your favorite Indian Language. In case you don’t get the correct word, … Read More